Google+ Badge

रविवार, 17 फ़रवरी 2013

कर्फ़्यू-3/4

कर्फ़्यू - 3

शक्कर
दूध
चाय  की  पत्ती ...

कर्फ़्यू  में  छूट  की  अवधि 
ख़त्म  होने  तक
दूकान  पर  बहुत  भीड़  थी

माँ
तेल  की  आख़िरी  बूँद  चुकने  तक
स्टोव  जलाए
इंतज़ार  करती  रही .....

                                             ( 1984 )

कर्फ़्यू-4

बच्चे 
अपनी  गेंद  पकड़ने 
सड़क  पर  दौड़े  थे 

वे 
लाल  गोलों  में  तब्दील  होने  से  पहले 
'शूट  एट  साईट '  का  अर्थ 
नहीं  जानते  थे।

                                         ( 1984 )

                                 -सुरेश  स्वप्निल 

प्रकाशन: ' आवेग ', रतलाम एवं अन्यत्र।
 




कोई टिप्पणी नहीं: